Go to Top

अल्सर स्टॉकिंग्स-कम्प्रेज़ॉन अल्टिमा

Ulcer Stockings – Comprezon Ultima

कम्प्रेज़ॉन अल्टिमा अल्सर स्टॉकिंग्स की विशेषताएं

टांगों की दीर्घकालिक शिरापरक अपर्याप्तता के बढ़ते रहने का सबसे गंभीर परिणाम होता है टाँगों का एक शिरापरक अल्सर। यह फिर से हो जाते हैं और इनका ठीक होना मुश्किल होता है। ये अक्सर टाँगों के भीतर की तरफ़ (मीडियल साइड) टखनों के ऊपर प्रकट होते हैं। ये छिछले और दर्दभरे होते हैं और निचली टाँगों में अत्यधिक सूजन के रूप में नज़र आते हैं।

शिरापरक अल्सरों के ठीक होने में और इनको दोबारा होने से रोकने में संपीड़न की एक अहम भूमिका होती है। स्टेमर के सिद्धांत के अनुसार, “दीर्घकालिक शिरापरक अपर्याप्तता वाले रोगियों में अल्सर को ठीक करने के लिए टखने पर 40 एमएमएचजी के बाहरी दबाव की आवश्यकता होती है।”

जब अल्सर ठीक हो जाता है, तो रोगी को डॉक्टर की सिफारिश के अनुसार कम-से-कम 30-40 एमएमएचजी की कम्प्रेशन स्टॉकिग्स (संपीड़न प्रदान करने वाले स्टॉकिंग्स) को पहने रखना जारी रखना चाहिए। इससे अल्सर दोबारा नहीं होते हैं।

कम्प्रेज़ॉन अल्टिमा दो-परत की अल्सर स्टॉकिंग प्रणाली है जो टखने पर 40 एमएमएचजी का दबाव प्रदान करके घाव को ठीक करने की प्रक्रिया को तेज़ करती है और आरोग्य-प्राप्ति के समय को कम करती है। इससे रोगी अनुपालनता भी बेहतर हो जाती है। शिरापरक समस्याओं के उपचार के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण माने जाने वाले क्रमिक संपीड़न थेरेपी के सिद्धांत के अनुसार इसे बनाया गया है।

कम्प्रेज़ॉन अल्टिमा दो भागों का बना हुआ है

1.18 एमएमएजी की भीतरी लाइनिंग

  • इससे बाहरी स्टॉकिंग को आसानी से पहना जा सकता है
  • घाव की ड्रेसिंग को सुरक्षित रखती है
  • पहनने वाले को आराम प्रदान करती है

2.23-32 एमएमएचजी की बाहरी स्टॉकिंग

  • अतिरिक्त संपीड़न प्रदान करती है
  • घाव के ठीक होने की प्रक्रिया को तेज़ करती है

दोनों स्टॉकिंग्स मिलकर टखने पर 40 एमएमएचजी का संयोजित दबाव प्रदान करती हैं। रात के समय रोगी को भीतरी स्टॉकिंग पहने रहना चाहिए, लेकिन 23-32 एमएमएचजी की बाहरी स्टॉकिंग को उतारा जा सकता है।

बेहतर और तेज़ परिणामों के लिए हम इसकी सिफ़ारिश देते हैं

कम्प्रेज़ॉन अल्टीमा अल्सर स्टॉकिंग्स – दो परतों वाली अल्सर ठीक करने की प्रणाली

*अध्ययन दिखाते हैं कि पुनरावृत्ति की संभावना 26-28% तक कम हो सकती है और 69% तक अधिक हो सकती है – ब्रायन्ट आर ए, संपादक, एक्यूट एंड क्रॉनिक वून्ड्स (तीव्र और दीर्घकालिक घाव), सेंट लूइ मोस्बी; 1992, पृष्ठ 164-204

उपयोग की स्थिति

टाँगों का शिरारक अल्सर

इन स्थितियों में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए

  • कन्जेस्टिव हार्ट फेलियर
  • सेप्टिक फ्लेबाइटिस (सूक्ष्म जीवाणुओं के कारण नसों में सूजन)
  • फ्लेगमेशिया कोरूलिया डोलेन्स (ब्लू फ्लेबाइटिस)
  • त्वचा की ऐसी बीमारियाँ जिनमें रिसाव होता हो
  • संपीड़न स्टॉकिंग्स की सामग्री से असंगतता
  • पेरिफेरल न्यूरोपैथी (डायबिटिस मेलिटस में)
  • पेरिफेरल आर्टिरियल ऑक्ल्यूसिव रोग (PAOD)
  • प्राइमरी क्रॉनिक पॉलीआर्थराइटिस

अधिक विवरण

उपलब्ध स्टाइल: AD

माप: XS, S, M, L, XL,XXL

पैरों की उंगलियों का स्टाइल: आंतरिक लाइनर: पीप होल , बाहरी स्टॉकिंग्स: खुली हुई उंगलियाँ

 

 

 

अस्वीकरण: इस पृष्ठ पर उपलब्ध जानकारी पेशेवर चिकित्सक की सलाह का विकल्प नहीं है। आपकी विशिष्ट स्थिति के लिए सही उत्पादों पर सर्वोत्तम सलाह देने के लिए आपका चिकित्सक ही सबसे योग्य व्यक्ति है।